Update
Spread the love

जब पूरा देश रिया और कंगना को देखने के लिए बेताब था. तब देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एबीपी न्यूज़ का ही रीजिनल चैंनल एबीपी गंगा देख रहे थें. पीएम ने ट्विटर हैंडल पर अपने ही संसदीय क्षेत्र वाराणसी की स्टोरी वीडियो को ट्वीट कर तारीफ़ की हैं. ये स्टोरी एबीपी गंगा के सत्ते पर सत्ता प्रोग्राम की थी जो वाराणसी में मोती की खेती कर रहे तीन युवाओं ने मिशाल पेश की हैं. पीएम ने लिखा “वाराणसी के नारायणपुर गांव में मोती की खेती करने वाले तीन युवाओं ने हर किसी के लिए एक मिसाल पेश की है। इन युवाओं ने यह दिखाया कि अगर सही दिशा में परिश्रम हो तो मिट्टी से मोती उगाए जा सकते हैं’

आज के युवाओं का खेती-किसानी से मोहभंग होता जा रहा हैं ऐसे में परम्परागत खेती से हटकर आधुनिक खेती को अपना रहे किसान आज दूसरे किसानों के लिए प्रेरणाश्रोत साबित हो रहे हैं. हमारें टेलेविज़न की दुनिया को भी समझना पड़ेगा की युवाओं को चटपटी खबरों के अलावा भी किसानों की उन्नति के बारे में, कृषि की नई-नई तकनीक, छात्रों के भविष्य के बारे जैसी भी ख़बरें सोचनी चाहिए।

आपको बता दें एबीपी न्यूज़ का रीजिनल चैंनल एबीपी गंगा जो पिछले साल ही राजकिशोर और रोहित सावल ने लांच कराया था और इतने कम समय में ही गंगा चैनल उत्तराखंड और उत्तरप्रदेश का बेहद ही लोकप्रिय चैंनल बन चूका हैं. वर्तमान समय में एबीपी गंगा के संपादक रोहित सावल है.

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.