Update
Justice Media Awards
Spread the love

NDLA यानि नॉर्थ दिल्ली लॉयर्स एसोसिएशन ने दिल्ली के इंडियन हेबिटेट सेंटर में “जस्टिस मीडिया अवार्ड और “लीगल साथी” प्लेटफॉर्म समारोह का आयोजन किया…इस समारोह में मुख्य अतिथि सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज और नेशनल लीगल सर्विस अथॉरिटी के चेयरपर्सन जस्टिस अनिल आर दवे और जम्मू कश्मीर हाईकोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस, NCLT के पूर्व चेयरमैन व NHRC के पूर्व सदस्य जस्टिस एमएम कुमार और एडिशनल लॉ सकैट्ररी डाॅ अंजू राठी राणा मौजूद रही.. इस मौके पर लोगों को मुफ्त में लीगल सहायता प्रदान के लिए “लीगल साथी” प्लेटफॉर्म का भी उद्घाटन किया गया…

सुमित कुमार को लीगल रिपोर्टिंग में मिला अवार्ड

इस कार्यक्रम में भारत24 के लीगल एडिटर सुमित कुमार को लीगल रिपोर्टिंग में शानदार प्रदर्शन के लिए “जस्टिस मीडिया अवार्ड” से नवाजा गया…जस्टिस अनिल आर दवे, जस्टिस एमएम कुमार और एडिशनल लॉ सेक्रेट्री डॉक्टर अंजु राठी राणा ने सुमित कुमार को बुके और अवार्ड देकर सम्मानित किया…

दरअसल, ये अवार्ड लीगल बीट जैसे सुप्रीम कोर्ट और दिल्ली हाईकोर्ट में बेहतरीन कवरेज करने वाले पत्रकार को दिया जाता है… दरअसल, NDLA ने भारत24 के लिए ब्रॉडकास्ट जनरलिज्म कैटेगरी में सुमित कुमार को चयनित किया था… यह दूसरी दफा है जब सुमित कुमार को जस्टिस मीडिया अवार्ड से नवाजा गया है, इससे पहले 2022 में NDLA ने जस्टिस मीडिया अवार्ड से सम्मानित किया था…

NDLA ने भारत24 की सराहना की

इस मौके पर NDLA के जनरल सेक्रेटरी और सुप्रीम कोर्ट के वकील विनीत सिंह जिंदल ने भारत24 की जमकर तारीफ करते हुए कहा कि बहुत कम समय में भारत24 ने अपनी पहचान बनाई है और भारत24 का लीगल रिपोर्टिंग में कोई जवाब नहीं है… आगे विनीत जिंदल ने कहा कि इस मीडिया समारोह के अवसर पर हमने लीगल साथी प्लेटफॉर्म की शुरुआत की है और देश भर के कोने कोने में लोगों को मुफ्त में लीगल सहायता प्रदान की जाएगी…

यंग लॉयर्स की संस्था है NDLA

NDLA जनरल सेक्रेटरी विनीत जिंदल ने बताया कि उत्कृष्ट योगदान के लिए हमने यह अवार्ड दिया है और NDLA जो हमारी संस्था है, वह यंग लॉयर्स की संस्था है, ऐसे में लॉयर और लीगल जर्नलिस्ट मिलकर काम करें तो समाज को बेहतर दशा दिशा दे सकते हैं. वहीं जस्टिस अनिल आर दवे ने कहा कि यंग लॉयर्स संस्था और मीडिया सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट के फैसले को सरल और आसान भाषा में लोगों तक पहुंचाती है…

वहीं जस्टिस अनिल आर दवे ने कहा कि यंग लॉयर्स की संस्था और मीडिया एक दूसरे के साथ मिल कर ही लीगल क्षेत्र को सुगम और सरल बना सकती है…आपको बता दें कि NDLA वकीलों की एक संस्था (NGO) है, जो कि वकीलों के उत्थान और वेलफेयर के लिए काम करती है, इस एनजीओ का गठन 2018 में हुआ था…

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.