Update
Spread the love

बड़े भारतीय पत्रकार विनोद दुआ (Vinod Dua) का लंबी बीमारी के चलते आज निधन हो गया. तबियत बिगड़ने के बाद उन्हें ICU में भर्ती कराया गया था. जानकारी के मुताबिक, अप्रैल के बाद से ही उनकी सेहत लगातार बिगड़ रही थी और गंभीर हालत में आज उन्हें आईसीयू में एडमिट कराया गया था. दूरदर्शन और एनडीटीवी जैसे समाचार चैनलों के लिए सेवाएं दे चुके और हिंदी पत्रकारिता के जाने माने चेहरे 67 वर्षीय विनोद दुआ ने इसी साल जून में पत्नी पद्मावती ‘चिन्ना’ दुआ को कोरोना के चलते खो दिया था

मल्लिका ने बताया कि विनोद दुआ का अंतिम संस्कार लोधी श्मशान घाट में कराया जाएगा. मल्लिका दुआ ने सोशल मीडिया पोस्ट पर लिखा, हमारे बेपरवाह, निडर और असाधारण पिता विनोद दुआ का निधन हो गया. मल्लिका दुआ ने लिखा, अब वे हमारी मां के साथ हैं यानी अपनी पत्नी के साथ स्वर्ग में हैं. दरअसल, मल्लिका की मां का निधन इसी साल कोरोना से हो गया था.

उनके बिगड़ते स्वास्थ्य की जानकारी देते हुए उनकी बेटी और कॉमेडियन मलाइका दुआ (Malika Dua) ने सोशल मीडिया पर जानकारी दी थी कि ‘मेरे पिता की हालत काफी गंभीर है और वह आईसीयू में हैं. अप्रैल के बाद से ही उनकी सेहत लगातार बिगड़ती जा रही है. उन्होंने एक असाधारण जीवन जिया है और हमें वही दिया है. उन्हें दर्द नहीं होना चाहिए. सब उन्हें बहुत प्यार करते हैं और मैं आप सबसे गुजारिश करती हूं कि दुआ करें कि उन्हें कम से कम तकलीफ हो.’

कोरोना की दूसरी लहर ने छीन ली थी ‘चिन्ना’ 

दरअसल, कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान विनोद दुआ और उनकी पत्नी गुड़गांव के एक अस्पताल में भर्ती हुए थे. पत्रकार की हालत तभी से खराब चल रही थी. इस दौरान उन्हें कई बार अस्पताल में भी भर्ती होना पड़ा था. कोरोना की वजह से चिन्ना दुआ को अपनी जान गंवानी पड़ी थी. पेशे से रेडियोलॉजिस्ट चिन्ना दुआ का असल नाम पदमावती दुआ था. कोरोना संक्रमित होने पर उन्हें गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था. विनोद दुआ ने सात जून को एक फेसबुक पोस्ट के जरिए अपनी पत्नी के निधन की दुखद खबर दी थी. चिन्ना दुआ ने 2019 तक लगभग 24 सालों तक एक रेडियोलॉजिस्ट के तौर पर काम किया था.

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.